अंग्रेजी मीडियम का “लाड़की” सॉन्ग पिता-बेटी के रिश्ते को नए तरीके से परिभाषित करता है

प्रशंसकों के उत्साह को बढ़ाते हुए, बहुप्रतीक्षित इरफ़ान खान-करीना कपूर-राधिका मदान खान स्टारर कॉमिक-ड्रामा ‘अंग्रेजी मीडियम’ के निर्माताओं ने बुधवार को ‘लाड़की’ शीर्षक से अपना आगामी सॉन्ग आज सोशल मीडिया पर साझा किया। यह सॉन्ग इसलिए स्पेशल है क्योंकि यह पिता-बेटी के रिश्ते को नए तरीके से परिभाषित करता है।

फिल्म की निर्माता मैडॉक फिल्म्स ने सोशल मीडिया प्लेटफार्म ट्विटर पर उस गाने को साझा किया जिसमें करीना कपूर खान हैं और उन्होंने लिखा है, “मारी लाड़की की थान, खामा घणी ! सभी बिटियाओं को समर्पित एक दिलकश धुन! चेरीफूल #लाड़की आउट। 2 दिन बचे हैं #अँग्रेज़ीमेडियम के लिए, सिनेमाघरों में इस #Friday। ! “

इरफान के किरदार के साथ ढाई मिनट का गीत कहता है, “बचपन में बच्चे हमरी उँगली पक्कड़ के चले हैं, ताकी वो भी हमसे भीड़ खा गए ना। पर जइसन दिन वो हमरी ऊँगली छोड़ दें, आइसा लागे कि हम ही खो गए है।”

वीडियो सॉन्ग में करीना कपूर खान को कमरे के पर्दे और बेडशीट में अलंकृत एक कमरे में सफेद कपड़े पहने हुए दिखाया गया है और वह अकेली और उदास लग रही है। आत्मीय गीत एक माता-पिता और उनके बच्चे के बीच संबंधों पर केंद्रित है।

बेटी न्यासा की ट्रोलिंग पर एक्ट्रेस काजोल ने तोड़ी चुप्पी

यह गीत करीना-डिंपल और इरफान-राधिका के रिश्तों को दर्शाता है। यह स्पेशल सॉन्ग “लाड़की” माधुर्य अभिभावक-बाल संबंधों को उपयुक्त रूप से प्रदर्शित करता है और यह भी दर्शाता है कि कैसे वे रोज़मर्रा के संघर्ष में साथ जाते हैं। इमोशनल गाने को प्रिया सरैया और रेखा भारद्वाज ने गया है और सचिन-जिगर की जोड़ी ने इसका संगीत दिया है।

‘अंगेज़ी मीडियम’ 2017 की हिट फिल्म ‘हिंदी मीडियम’ की अगली कड़ी है यानी सीक्वल मूवी जिसमें इरफान और सबा क़मर प्रमुख भूमिकाओं में थे। फिल्म में एक महत्वपूर्ण भूमिका में दीपक डोबरियाल भी है। फिल्म दिनेश विजान द्वारा निर्मित है और इसे 13 मार्च को सिनेमाघरों में रिलीज़ किया जाएगा।

करीना कपूर खान पहली बार अंगरेजी मीडियम में इरफान खान के साथ सिल्वर स्क्रीन शेयर करेंगी। फिल्म 2017 की हिंदी मीडियम की सीक्वल है और इसी तरह की कहानी है। भले ही करीना की फिल्म में एक छोटी भूमिका है लेकिन उन्होंने लाडकी नामक एक ट्रैक में अभिनय किया है, जो आज निर्माताओं द्वारा जारी किया गया था।

यह स्पेशल सॉन्ग हर किसी को सुनना चाहिए फिर वह लड़की हो या फिर एक माँ। एक माँ को अपने बचपन के दिन याद आ जायेंगे जब वह अपने बाप की छोटी सी बेटी थी और एक बेटी को अपना मौजूदा बचपन फिर से रीप्ले होता दिख जायेगा जहाँ वह अपने पिता के साथ रोज़मर्रा के ज़िन्दगी में बतौर बेटी रिश्तों के अलग-अलग आयाम को टटोलती है, परखती और उनका अनुभव करती है।

बॉलीवुड फिल्म “अंग्रेजी मीडियम” हर किसी को देखनी चाहिए क्योंकि इसमें बेहद ईमानदारी और सच्चाई एक साथ दिखाया गया है कि कैसे बिना माँ की बेटी को एक बाप खुश रखने के लिए हर चीज़ को दांव पर लगा उसके विदेश में पढ़ने को सपने को पूरा करने में जुट जाता है और क्या वह बेटी इसे समझ भी पाती है ? यह जानना चाहते है तो यह फिल्म 13 मार्च को ज़रूर देखिये अपने नज़दीकी सिनेमाघरों में अपनी बेटी या अपने पिता के साथ।

Leave a Comment