जानिये एक्ट्रेस जान्हवी कपूर का कोरोनावायरस लॉकडाउन अनुभव

इस समय पूरा देश लॉकडाउन में है और शायद इस अलगाव में हममें से ज्यादातर लोग अपने और अपने आसपास के लोगों के बारे में कुछ नया सीख रहे हैं। अभिनेत्री जान्हवी कपूर के साथ भी ऐसा ही है। अपने कोरोनावायरस लॉकडाउन अनुभव को लेकर जान्हवी कपूर ने सोशल मीडिया के माध्यम से अपनी बातें साझा करी जिस पर यूजर्स ने अपनी प्रतिक्रिया ज़ाहिर करी।

सोमवार को अपने इंस्टाग्राम पर जान्हवी ने अपने द्वारा लिखे गए एक पर्सनल नोट की तस्वीर पोस्ट की। पोस्ट को कैप्शन दिया गया था –

“यह भी सीखा कि मुझे लिखना अच्छा लगता है … p.s मैंने ने यह 3 दिन पहले लिखा था क्योंकि हमने लॉकडाउन से थोड़ा पहले सेल्फ-आइसोलेशन शुरू कर दिया था और यह समय तब तक मेरे लिए एक सप्ताह हो चुका है।”

यह नोट उन सभी खोजों के बारे में है जो बीते एक सप्ताह में धड़क मूवी की अभिनेत्री ने बनाई हैं। उनके इस अनोखे इंस्टाग्राम पोस्ट को बहुत प्यार और स्नेह मिला है।

परिवार के सदस्यों ने इमोजीस के साथ टिप्पणी की, जबकि मनीष मल्होत्रा ​​और शशांक खेतान ने दिल इमोजी भेजते हुए प्रतिक्रिया दी। अन्य बातों के अलावा अपने पोस्ट में, वह कहती है कि कैसे वह हर समय अपने पिता के लिए उत्सुकता भरी प्रतीक्षा में रहती है, ख़ुशी कैसे स्पष्ट रूप से उनसे ज़्यादा कूल सिस्टर है। इसके अलावा, वह अभी भी अपनी मां को अपने ड्रेसिंग रूम में कैसे ‘सूंघ’ सकती है।

इससे यह भी साफ़ होता कि जान्हवी कपूर आज भी अपनी दिवंगत माँ स्वर्गीय श्रीदेवी से कितना प्यार और जुड़ाव महसूस करती है और फिर एक बेटी अपनी माँ की परछाई ही होती है ऐसे में बेटी को अपनी माँ की याद आना स्वाभाविक है।

अमेरिका में कोरोना संकट : एच -1 बी वीजा होल्डर भारतीय महिलाओं की नौकरी खतरे में

वह लिखती है कि सबसे पहले और सबसे महत्वपूर्ण बात उन्होंने सीखी वह है भोजन का मूल्य और यह सब कुछ बहुतायत में है। किराने का सामान खरीदने के लिए एक व्यक्ति को कैसे परेशान होना पड़ता है।

उन्होंने अपने लॉकडाउन अनुभव से यह भी जान लिया है कि कैसे उन्होंने हर चीज के लिए बहुत से लोगों पर भरोसा किया और उन्होंने सभी विलासिता के अभाव को स्वीकार कर लिया और आवश्यकताओं के मामले में उन्हें मापना शुरू कर दिया।

जान्हवी कबूल करती है कि उनके पिता उन्हें याद करते है और लॉकडाउन से पहले वह हमेशा उनके लिए घर वापस आने का इंतजार करती थी। लेकिन अब वह बहुत खुश लग रही है क्योंकि अब उनके पिता अपनी बेटियों के साथ समय बिता रहे है।

जान्हवी कपूर ने एक बार फिर से अभी दिल छू लेने वाली सोशल मीडिया पोस्ट से एक अलग सा दृष्टिकोण पेश किया है जिससे उनकी आत्मीयता के भाव का पता चलता है और यह बात सिद्ध होती कि अपने कोरोनावायरस लॉकडाउन के समय में उन्होंने ख़ास से आम शख्स होने का ख़ास एवं महत्वपूर्ण अनुभव प्राप्त किया है जिससे हर कोई सीख सकता है।

Leave a Comment