सेजल शर्मा की मौत : एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में स्त्री को कोई पूछता ही नहीं है

सेजल शर्मा की मौत : टीवी इंडस्ट्री में अपने सीरियल “दिल तो हैप्पी है जी” की लीड एक्ट्रेस सेजल शर्मा की मौत को पूरे एक महीने होने को आ चुके है लेकिन अभी तक इस हैप्पी रहने वाली अदकारा की दुखद मृत्यु की अबूझ पहली हम सभी के सामने बनी हुई है। आखिर उनकी मौत कैसे हुई ? इससे पहले एक्टर कुशाल पंजाबी के सुसाइड ने एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में पर्सनल लाइफ को लेकर तनाव झेल रहे एक्टर्स पर प्रकाश डाला था जिसके चलते उन्हें अपनी ज़िन्दगी समाप्त करनी पड़ जाती है।

अब सेजल शर्मा की मौत ने एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में अमूमन स्ट्रॉन्ग पोजीशन रखने वाली स्त्रियों के ऊपर भी सवाल खड़े कर दिए है। क्या वाकई इस इंडस्ट्री में स्त्री को कोई पूछता ही नहीं है ? क्या पैसे कमाने की चकाचौंध ने सभी कलाकारों की मानवीयता की आँखों को अँधा कर दिया है ? सेजल शर्मा ने अपनी मेहनत और प्रतिभा के दम पर टीवी सीरियल में काम पाया था। उन्होंने टीवी के परदे पर कदम रखने से पहले ही कई विज्ञापन और एक वेब सीरीज से कामी नाम कमा लिया था।

उन्होंने वीवो स्मार्टफोन के ऐड में मिस्टर परफेक्शनिस्ट आमिर खान और “आज़ाद परिंदे” नाम की वेब सीरीज में अहम भूमिका निभाई थी जिसके लिए उन्होंने काफी फेम मिला था। फिर आखिर ऐसा क्या हुआ कि सेजल शर्मा को अपनी जान गवानी पड़ी और बिना किसी को बताये ही उन्हें सुसाइड जैसा बेहद खतरनाक स्टेप लेना पड़ गया ?

सेजल शर्मा से जुड़े सूत्र और तमाम मीडिया रिपोर्ट्स में केवल एक वजह ही सामने निकल आई है और वह है सेजल की निजी ज़िन्दगी में उथल-पथल। तो जो एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री एक फैमिली होने का दावा करती है, वहां सेजल शर्मा की पर्सनल लाइफ के इश्यूज को सुनने का किसी के पास टाइम नहीं था और न ही तमीज थी जिसके चलते है वह अकेले ही सारी परेशानियों का सामना कर रही थी।

इस इंडस्ट्री में अपना हित साधने के लिए पराये भी अपनों से भी ज़्यादा सगे बन जाते है किन्तु वास्तव में देखा जाए तो यह बात भी किसी से छिपी नहीं है कि टीवी के परदे पर अन्य स्त्रियों को प्रोत्साहित करने वाली यह फीमेल एक्ट्रेसेस भी एक स्त्री होकर यहाँ खुद को अकेला महसूस करती है और जब भी किसी को निजी समस्या होती है तो उनके अपने बनने वाले लोग भी उन्हें हाशिये पर छोड़ जाते है और बिलकुल यही सेजल शर्मा के साथ भी हुआ।

सेजल शर्मा की मौत : इंडस्ट्री की असली हक़ीकत यही है!

सेजल शर्मा इस दुनिया में क्यों नहीं है ?

एक नॉन-फ़िल्मी बैकग्राउंड से ताल्लुख रखने वाली सेजल शर्मा ने अपने शानदार अभिनय के दम पर इस एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में बेहद ही कम समय में जगह बनाई थी लेकिन जितनी जल्दी उन्हें सफलता मिली उससे भी जल्दी समय में उनके सुनहरे जीवन का दुखद और रहस्मयी ढंग से अंत हो गया। हाँ,यह सच है कि सेजल शर्मा अब हमारे बीच नहीं है लेकिन उनकी सुसाइड वाली मौत के पीछे कारण क्या है ? यह बात किसी को भी पता चला है। प्रत्युषा बनर्जी, कुशाल पंजाबी सरीखे तमाम सफल कलाकरो की तरह सेजल शर्मा की मौत ने भी अपने पीछे कई सवाल छोड़ दिए हैं जिनके जवाब शायद एक आम आदमी के बस के बाहर ही है। उनकी मौत के गहरे राज़ एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री की बैकड्रॉप में मानो खो से गए हो।

टीवी जगत की दुनिया होती ही ऐसी है जहाँ एक दूसरे के लिए बेस्ट विश रखने वाले लोग ही एक दूसरे का सत्यानाश करने पर तुले होते हैं और किसी को पता भी नहीं चलता कि कौन उनके भले की बात कर रहा है और उनके अहित की। टीवी में आज भी डेली सोप सीरियल्स का ही बोलबाला है जहाँ अधिकतर स्त्री कलाकार ही हुआ करती है। तो ऐसे में तगड़ा कम्पटीशन तो होगा ही जिससे इंफीरिऑरिटी काम्प्लेक्स, टेंशन, डिप्रेशन, प्रेशर होना स्वाभाविक है लेकिन वह सिर्फ प्रोफेशनल लाइफ की बात है यदि पर्सनल लाइफ में प्रॉब्लम्स शुरू हो गई तो प्रोफेशनल लाइफ को मेन्टेन करने के बाद भी आप खुद को लम्बे समय तक सँभाल नहीं पाएंगे।

अपने ही साथी कलाकारों की उपेक्षा, भेदभाव और दोगलापन आपको बतौर व्यक्ति पीड़ा एवं दुःख देता है और एक स्त्री इस एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में सबके बीच होते भी हुए अकेली रह जाती और अंत में सुसाइड कर के खुद की जान ले लेती है। सेजल शर्मा की कहानी भी यही है लेकिन वह अब हमारे बीच नहीं है…… बस एक उनकी एक बात हम सभी के लिए एक सीख है – एंटरटेनमेंट इंडस्ट्री में स्त्री को कोई नहीं पूछता!

Leave a Comment